24.11.11

फ़िल्म - 'विद लव, दिल्ली!’ सिनेमा घरों में १६ दिसंबर २०११ को



गाने के विडीओ निर्माण के बारे में जानकारी :
  • निर्देशक - आशुतोष मटेला 
  • संगीत निर्माता - संजय चौधरी 
  • गीत के बोल - अमिताभ वर्मा 
  • गायक - शान और सारिका लाल 
  • अभिनेता - आशीष लाल और अपूर्वा लाम्बा
  • डी ओ पी - प्रेमानंद 
  •  नृत्य निर्देशक - गौरव अहलावत और अमित वेरलानी 
  • कला निर्देशक - सुनील छाबड़ा 
  • वी ऍफ़ एक्स टीम - रश्मि रंजन, रोहित शर्मा, वरुण चक्रवर्ती 
  • थ्री डी एनीमेशन - रोहित गुरूरानी और अभिनव शर्मा 
  • कास्ट्यूम डिजाइनर और फैशन स्टायलिस्ट - सीमा कुमार ( मैं ) 
  • बैनर - रेडमैट रीव्ज़ फ़िल्मस प्राइवेट लिमिटेड
फ़िल्म - 'विद लव, दिल्ली!सिनेमा घरों में १६ दिसंबर २०११ को पूरे देश में आ रहा है | उम्मीद है आप सब देखने  ज़रूर आईयेगा |

14.10.11

फ़िल्म - 'विद लव, दिल्ली!’


फ़िल्म - 'विद लव, दिल्ली!’ जिसके बारे में पहले यहाँ लिखा था, ये रही उसकी एक छोटी सी झलक यू ट्यूब पर .. एक सपना जो अब पूरा होने जा रहा है | सपना मध्यमवर्गीय परिवारों के कुछ उद्यमी और महत्वाकांक्षी लोगों का जिनका फिल्मों से दूर दूर तक कोई नाता नहीं था, पर कुछ करने की उमंग और जोश भरपूर था | न तो यह  सफ़र आसान था, न आई. आई. टी. दिल्ली से अभियांत्रिकी (इंजीनीयरिंग) करने के बाद अच्छी नौकरियां छोड़ देना परिवार के लिए आसान था,  न फिल्म बनाने के लिए खानदानी पैसा था और न युवाओं की पहली फिल्म मैं पैसे लगाने ले लिए कोई बड़ा निवेशक था | पर कहते हैं न 'बूँद - बूँद से सिन्धु बना है ' ... परिवार और दोस्तों ने अपने सामर्थ्य अनुसार भरपूर मदद की और उसी का नतीजा है की यह फिल्म बन पाना संभव हुआ |  


उम्मीद है इस फिल्म की झलक तथा यह फिल्म भी आपको पसंद आएगी | मेरी भी काफी उम्मीदें जुडी हैं इस फिल्म से | और क्यों न हो, मैं इसमें 'कास्ट्यूम डिजाइनर' और 'फैशन स्टायलिस्ट' जो हूँ |   

कुछ तसवीरें आप यहाँ भी देख सकते हैं |  फ़िल्म - 'विद लव, दिल्ली!’ के बारे में  इसके वेबसाइट, फ़ेसबुक, ट्विट्टर, यू ट्यूब पर भी जानकारी मिल सकती है | आशीष ने अपने अंग्रेज़ी चिठ्ठे पर भी काफी कुछ लिखा है | समाचारपत्र क्या कह रहे हैं वह आप यहाँ देख सकते हैं |

उम्मीद है जिस तरह  इस फिल्म को बनाने मैं बहुत लोगों का समर्थन मिला है, उससे कहीं अधिक इसे बेहद सफल बमेने में मिलेगा :) | 

अपने विचार और अपनी शुभकामना अवश्य दें | 

6.6.11

डिजाईन, ग्राफिक्स और परिधान की कार्यशाला

गर्मियों का मौसम अन्दर बैठ कर कुछ पढने - सीखने का अच्छा समय होता है | छात्रों की तो छुट्टियां चल रही है पर मैं पिछले साल की तरह कुछ कार्यशाला चलाने की तैयारी करा रही हूँ  'इंस्टिट्यूट ऑफ़ अपैरल मैनेजमेंट' , गुडगाँव में | 

कुछ जानकारी यहाँ मेरे अंग्रेज़ी चिठ्ठे पर भी है  | जो कार्यशाला मैं करवा रही हूँ, उनमें से एक टी-शर्ट के ग्राफिक कला के ऊपर है, तो दूसरी एक चित्र / डिजाईन से परिधान की बारीकियां समझने और बनाने (टेक - पैक बनाने ) के ऊपर है ताकि एक डिजाईनर अपनी कृति को वास्तविक परिधान में परिवर्तित करवा सके | डिजाईन, ग्राफिक्स और परिधान की बारीकियों में जो रुचि रखते हैं, वो इन कार्यशालाओं में भाग ले सकते हैं | अधिक जानकारी यहाँ भी मिल सकती है |