26.10.06

खुशियों की दीवाली

एक-एक दीप जला कर जगमाती है दीवाली।
खुशी का लम्हा-लम्हा जोड़कर आती है खुशहाली।

खुशियों के दीपों से हर दिन जगमगाए दीवाली।

- सीमा कुमार
२५ अक्टूबर, २००६

1 comment:

Udan Tashtari said...

आपको भी दीपावली की शुभकामनायें.